Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

नाकाम हो रही 108 एंबुलेंस सेवा व्यवस्था, परेशान हो रहे मरीज

मरीजों की देखभाल में लगी 108 एंबुलेंस व्यवस्था खुद बीमार होती नजर आ रही है। 108 एंबुलेंस व्यवस्था मरीजों को तुरंत चिकित्सा सुविधा देने और उन्हें अस्पताल पहुंचाने के लिए शुरू की गई थी। पर देखने में यह आ रहा है कि जिले में यह सेवा व्यवस्था बुरी तरह नाकाम साबित हुई। आए दिन एंबुलेंस में गड़बड़ियां सामने आ रही है। कहीं एंबुलेंस का टायर पंचर पाया जाता है तो कहीं उसके मेंटेनेंस में गड़बड़ी देखी जाती है। जहां-तहां बिगड़ी हुई एंबुलेंस गाड़ियां लोगों को दिख जाती हैं।

गड़बड़ी की ऐसी घटना कोतमा ब्लॉक में भी देखने को मिली। गुरुवार की सुबह ग्राम बदरा व कदमटोला में 108 एंबुलेंस रास्ते में खड़ी पाई गई। पूछने पर पता चला कि एंबुलेंस का टायर पंचर हो गया है। स्थानीय लोगों का कहना है कि एंबुलेंस में स्टेपनी और एक्स्ट्रा टायर ना होने की वजह से एंबुलेंस रास्ते में खड़ी हो गई। वाहन चालक से पूछने पर उसने अव्यवस्था का ठीकरा अपने उच्च अधिकारियों पर फोड़ दिया।

खबर है कि जिस कंपनी को एंबुलेंस सेवा का यह काम सौंपा गया था, उसके टेंडर की समय सीमा खत्म होने वाली है। यही कारण है कि कंपनी के अधिकारी एंबुलेंस की देखरेख में लापरवाही दिखा रहे हैं।

बता दें कि 108 एंबुलेंस सेवा एक आपातकालीन प्रतिक्रिया सेवा है जो 24 घंटे उपलब्ध रहती है। मध्य प्रदेश के अलावा यह सेवा आंध्र प्रदेश,गुजरात, उत्तराखंड, तमिलनाडु जैसे कई राज्यों में दी जा रही है।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें