Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने से बढ़ा कोरोना का केहर, प्रशासन ने भी जताई लापरवाही

अनूपपुर में शुरू हो गया हैं कोरोना संक्रमण का सिलसिला, हाल ही में 5 व्यक्तियों के कोरोना संक्रमित होनेे की खबर सामने आयी है| जैतहरी के पास टकहुली गांव में एक पति-पत्नी का जोड़ा भी कोरोना संक्रमित पाया गया था जिसके बाद उनके परिजनों की सैंपलिंग भी की थी जिसकी रिपोर्ट आनी अभी बाकि है | इसके बावजूद भी लोगों के अंदर कोरोना का कोई खास डर देखने को नहीं मिल रहा है| भले ही विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा तीसरी लहर की आशंका व्यक्त की जा रही है|

परन्तु लोग बिना किसी चिंता और डर के कोरोना की गाइडलाइन्स जैसे की मास्क का उपयोग और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे है|बाज़ार व सामाजिक आयोजनों में भी प्रशासन द्वारा दिए गए निर्देशों को नज़रअंदाज़ किया जा रहा हैं | सर पर मंडराते खतरे को भुलाकर लोग लापरवाही करने में कोई कोताही नहीं बरत रहे है |

वहीं दूसरी ओर जिला मुख्यालय स्थित रेलवे फाटक का भी कुछ ऐसा ही हाल है| रेलवे फाटक जैसे ही बंद होता है वैसे ही इसके दोनों ओर वाहनों की लंबी कतारें लग जाती है। अव्यवस्थित और अनियंत्रित यातायात के बीच दो पहिया वाहन सवार एक दूसरे से आगे निकलने की कोशिश में सोशल डिस्टेंसिंग को तार तार कर देते है | और मास्क का तो पूछिए नहीं, इस भीड़ में कभी भी एक भी व्यक्ति के मुँह पे मास्क नज़र नहीं आता है, और जब इनसे इस बारे में कोई सवाल किया जाता है तो उनका कहना होता है की वाहन चलाते समय मास्क की कोई आवशयकता नहीं होती तो मास्क क्यों लगाना | 10 सितम्बर को जैतहरी जनपद के अंतर्गत ग्राम पंचायत टकहुली में कोरोना संक्रमित मरीज़ो के पाए जाने की खबर आयी थी जिसी के बाद 11 सितम्बर को जैतहरी नगर में एक सामाजिक कार्यक्रम आयोजित किया गया था | इस आयोजन में सैकड़ों की भीड़ में बच्चे व बूढ़े, सभी एकत्रित हुए थे किन्तु किसी ने भी कोरोना की गाइडलाइन्स का पालन नहीं किया | भाषण से लेकर माल्यार्पण तक के कार्यक्रम हुए जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग का ज़रा भी ध्यान नहीं रखा गया |

बाज़ारो में भी कोई रोक टोक नहीं की जा रही है| रविवार को राजेंद्रग्राम में साप्ताहिक बाजार का आयोजन होता हैं जिसमें ग्रामीण क्षेत्रों से लोग एकत्रित होकर खरीदारी करते हैं, पर कोरोना गाइडलाइन्स का पालन नहीं करते |

त्योहारों के आगमन से लोगों का आना जाना लगा रहता, जिसमें बाहर से आने वाले लोगों की प्रशासन द्वारा न तो कोई जानकारी जुटाई जा रही हैं न ही उनका कोरोना का टेस्ट किया जा रहा है और बाज़ार में घूमते हुए लोगों पर भी किसी तरह की कोई रोक-टोक या सख़्ती नहीं जताई जा रही है | अगर इसी तरह चलता रहा तो तीसरी लहर के आने में भी ज़्यादा वक़्त नहीं लगेगा, आशा है की प्रशासन इस विषय में जल्द से जल्द कोई ठोस कदम उठाये |

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें