Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

5 वर्ष से प्रशासन द्वारा स्वच्छ पानी के लिए मोहताज नगरवासी

स्वच्छ पानी पीने का अधिकार सबको है, और देश में इतना विकास हो जाने के बाद भी कई ऐसे छोटे शहर, ज़िले व नगरपालिका भी है जो सरकार द्वारा प्रदान कराई गयी इस सुविधा से अभी भी वंचित है, हम बात कर रहे है ‘धनपुरी’ नगरपालिका की |

यूँ तो ये प्रदेश की सबसे संपन्न नगर पालिकाओं में से एक है, लेकिन नागरिक सुविधाओं एवं विकास के मामले में अभी भी बहुत पीछे है| यहां के रहवासियों को तमाम समस्याओं से जूझना पड़ता है। पांच वर्ष से फिल्टर प्लांट अधूरा पड़ा है। साथ ही पेयजल,सफाई, प्रकाश व्यवस्था जैसी बुनियादी जरूरतों से अभी तक यहाँ के नागरिक वंचित हैं।

धनपुरी नगर क्षेत्र में पेयजल आपूर्ति पाइप लाइन विस्तार एवं फिल्टर प्लांट के लिए लगभग 5 वर्ष पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा पेयजल अधोसंरचना योजना के तहत 16 करोड़ 50 लाख रुपए की राशि स्वीकृत की गई थी।

नगर प्रशासन इस राशि का उपयोग एवं पेयजल से जुड़ी समस्या के समाधान हेतु पाइप लाइन के विस्तार का कार्य किया जा रहा है लेकिन कई वार्डों का विस्तार होना बाकी है। पानी की टंकी का काम किसी तरह पूरा हो गया है लेकिन फिल्टर प्लांट पूरी तरह से तैयार नहीं है।

अधोसंरचना योजना के तहत स्वीकृत कार्य का ठेका जिस ठेकेदार को दिया गया था वह निर्धारित समय सीमा के पूर्ण होने के बाद भी फिल्टर प्लांट का कार्य पूर्ण नहीं कर पाया है। फिल्टर प्लांट चालू न होने से आम नगरिकों को गंदा पानी पीने के लिए विवश होना पड़ रहा है, साथ ही में कई बीमारियों का भी शिकार होना पड़ रहा हैं |

पेयजल जैसी बुनियादी जरूरतों को पूरा करने की दिशा में अब तक कोई ठोस प्रयास नहीं हो सका, जबकि वर्षों से वार्डवासियों के मन में यह उम्मीद जगी है कि अब शुद्ध पानी उपलब्ध हो सकेगा।

वार्ड नंबर 1 गोपालपुर हाथी डोल, वार्ड नंबर 7 अमराडडी, वार्ड नंबर 22सिलपरी, वार्ड नंबर 24 ढुडहा टोला,जंगल दफाई, चीपहाऊस अनदेखी के प्रत्यक्ष प्रमाण हैं।

बताया जाता है कि लगभग 15 वर्ष पूर्व 2004 में वार्ड नंबर 2 में 45 लाख रुपये की लागत से फिल्टर प्लांट की स्थापना इस उद्देश्य से की गई थी कि नगर में शुद्ध पेयजल की व्यवस्था होगी लेकिन उक्त फिल्टर प्लांट 1 दिन भी नहीं चल सका और मशीनें आज भी जंग खा रही हैं।

स्थानीय नागरिकों ने जल्द से जल्द कार्य पूर्ण कराने की मांग की है। उम्मीद हैं की प्रशासन जल्द से जल्द उन ठेकेदारों जिनको इस कार्य को पूर्ण करने की जिम्मेदारी दी थी उनके खिलाफ ठोस कदम उठाएगा और यहाँ के नागरिको को स्वच्छ जल की उपलब्धदी होगी |

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें