Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

बदतर हो चुकी हैं शहर की सड़कें, प्रशासन की अनदेखी से लोग परेशान

अनूपपुर और कोतमा की सड़कें लगातार प्रशासन की अनदेखी का शिकार हो रही हैं। सड़कों पर जगह-जगह गड्ढे, दरारें, टूट-फूट और कीचड़ देखा जा रहा है। ना तो समय पर सड़कों की मरम्मत हो रही है और ना ही अधूरी पड़ी सड़कों का निर्माण किया जा रहा है। बरसात के मौसम में दिक्कत और भी बढ़ जाती है जब बारिश का पानी सड़क के गड्ढों में भर जाता है और वाहन इन गड्ढों में फंस जाते हैं।

सड़क की ऐसी दुर्दशा को लेकर स्थानीय लोगों द्वारा कई बार सीएम हेल्पलाइन में शिकायत भी की गई है लेकिन प्रशासन अभी तक इस पर कोई कार्यवाही नहीं कर रहा है। रात के समय इन सड़कों पर चलना और भी मुश्किल हो जाता

है। लाइट की व्यवस्था भी ना होने से सड़क के गड्ढों का अंदाजा नहीं हो पाता है और वाहन उनमें फंसकर दुर्घटनाग्रस्त हो जाते हैं। छोटे वाहन तो कई बार गड्ढों में फंस कर गिर जाते हैं और लोग चोटिल हो जाते हैं।

यूं तो नगर के विकास कामों में करोड़ों रुपए खर्च किए जाते हैं सड़कों के निर्माण और मरम्मत में भी लाखों रुपए खर्च होते हैं लेकिन इसके बावजूद भी सड़कों की स्थिति में कोई बदलाव नहीं होता। यह कोई आज की स्थिति नहीं है, बल्कि लंबे समय से शहर की सड़कों की हालत ऐसी ही बनी हुई है। यहां तक की वर्षों से कई सड़क निर्माण कार्य अधूरे पड़े हैं।

अनूपपुर शहर की सड़कें हों या कोतमा की, सभी जगह हाल एक सा है। शहर के बंजारा होटल तिराहे से केशवाही रोड तक की सड़क भी जगह-जगह से टूट चुकी है। सड़कों पर गड्ढे हो गए हैं और उनमें बरसात का पानी जमा हो गया है जो बीमारियों को भी न्योता दे रहा है। ऐसा ही नजारा मुखर्जी चौक से वीडियो मोड़ तक की सड़क का भी है। यहां की सड़क महीनों से अधूरी पड़ी हुई है। सड़क निर्माण के लिए नगर पालिका द्वारा टेंडर पास किया जा चुका है लेकिन ठेकेदार द्वारा अभी तक काम नहीं शुरू किया गया है।

सड़क की ऐसी दुर्दशा केवल पुरानी सड़कों की नहीं है बल्कि हाल ही में बनाई गई नई सड़कें भी टूट-फूट रही हैं। ठेकेदारों द्वारा लगातार लापरवाही की जा रही है। सस्ता और खराब माल लगाकर सड़कें बनाई जा रही हैं। नतीजा यह होता है कि सड़कें एक बरसात भी नहीं चल पाती हैं और गड्ढों में बदल जाती हैं।

सड़कों की ऐसी दुर्दशा को देखते हुए ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मनोज सोनी ने नगरपालिका को एक पत्र लिखकर अपनी शिकायत दर्ज कराई है। उन्होंने मांग की है कि बस स्टैंड से जखीरा चौक तक की सड़क, जो कुछ दिनों पहले ही बनकर तैयार हुई थी वह एक बारिश में ही जगह-जगह से उखड़ने लगी है और उसमें दरारें पड़ने लगी हैं। इस कारण लोगों को आवाजाही में मुश्किलें हो रही हैं।

मनोज सोनी ने कहा कि जल्द से जल्द इस मामले पर कार्यवाही करते हुए सड़क की जांच करवाई जाए और मरम्मत का कार्य शुरू हो। साथ ही साथ जिन ठेकेदारों को इस सड़क के निर्माण का कार्य सौंपा गया था उनका भुगतान भी रोक लिया जाए।

स्थिति लेकिन अब भी वही है कि लाखों करोड़ों रुपए खर्च होने के बाद भी सड़कों की हालत नहीं बदलती है। लोग आज भी अच्छी सड़कों के लिए तरस रहे हैं और परेशान हो रहे हैं।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें