Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

धान मिलिंग में गड़बड़ी को लेकर प्रशासन सख्त, कलेक्टर ने जताई नाराजगी, दिए सख्त निर्देश

कुछ ही दिनों पहले क्षेत्र में फसलों के रखरखाव व उनकी मिलिंग में गड़बड़ी का मामला सामने आया था। प्रशासन ने भी अब इसे संज्ञान में लेते हुए कार्यवाही करने का फैसला लिया है। अनूपपुर जिला के कलेक्टर सोनिया मीना ने कलेक्टर ऑफिस स्थित नर्मदा सभागार में एक बैठक में हिस्सा लिया। जिसमें खरीदी गई धान के मिलिंग कार्य की और फसल के रखरखाव की समीक्षा की गई।

कलेक्टर मीना ने मिलिंग कार्य में की जा रही देरी और गड़बड़ी पर अधिकारियों को आड़े हाथों लिया और उनमें जल्द से जल्द सुधार करने के आदेश भी दिए। कलेक्टर मीना का कहना है कि फसलों का मिलिंग कार्य और उनका रखरखाव तय अनुबंधों और कानूनों के अनुसार, समय सीमा को ध्यान में रखकर किया जाना चाहिए।

इसके साथ ही कलेक्टर ने फसलों के मिलिंग कार्य की मॉनिटरिंग के लिए जरूरी उपकरणों के बारे में भी राजस्व अधिकारियों से बात की। उन्होंने कहा कि मॉनिटरिंग के लिए विद्युत की उपलब्धता व अन्य उपकरणों की समस्याओं को जल्द से जल्द हल किया जाना चाहिए।

कलेक्टर ने विद्युत मंडल के कार्यपालन यंत्री को भी निर्बाध बिजली सप्लाई उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। उनके द्वारा फसलों की मिलिंग में विभिन्न विभागों के समन्वय पर भी जोर दिया गया। इसके आगे जिला कलेक्टर मीना ने वेयर हाउस के जिला प्रबंधक से भी बात की। उन्होंने जिला प्रबंधक को स्टोरेज क्षमता बढ़ाने के लिए इंतजाम करने को कहा।

उन्होंने कहा कि जिले में स्थानों को चिन्हित करके टेंपरेरी कैंप में फसलों के संग्रहण की व्यवस्था की जाए और उनका निरीक्षण कर जल्द से जल्द रिपोर्ट कलेक्टर ऑफिस में दी जाए।

मिलिंग काम और फसलों के संग्रहण में सामने आई गड़बड़ियों को देखते हुए जिला कलेक्टर के इस कदम को सही ठहराया जा रहा है। लेकिन देखना यही होगा कि कलेक्टर के इन आदेशों का क्या परिणाम सामने आता है! उम्मीद है मिलिंग में हो रही समस्याओं को जल्द से जल्द सुलझा लिया जाएगा।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें