Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

दो दिन की बारिश में नगर प्रशासन की खुली पोल, सड़कों पर जगह-जगह भरा पानी, गिरे बिजली के खंभे

शहडोल अंचल में लगातार दो दिन से बारिश हो रही है। इस बारिश ने जहां लोगों की परेशानियां बढ़ा दी है वहीं नगर प्रशासन की भी पोल खोल के रख दी है। दो दिन की बारिश में ही शहर की सड़कें पानी पानी हो गईं। जगह जगह सड़कों पर गड्ढे नजर आ रहे हैं और उन में पानी भर गया है। सड़कों पर भरा पानी और कीचड़ जहां लोगों को आवाजाही में मुश्किल पैदा कर रहा है, वहीं बीमारियों को भी न्योता दे रहा है।

बीते मंगलवार की रात से शुरू हुई बारिश रुकने का नाम नहीं ले रही है। बारिश की वजह से शहर के आसपास के नदी नाले भर गए हैं और उनका जलस्तर बढ़ गया है। बारिश में सड़कों की हालत तो इतनी बदतर हो चुकी है कि लोगों का चलना भी मुहाल हो गया। गोरतरा के पास 50 मीटर की सड़क पूरी तरह से पानी में डूब गई और टूट गई। सड़क पर इतने बड़े-बड़े गड्ढे हो चुके हैं कि पूरी की पूरी कार इनमें समा सकती है। इंदिरा चौक से बस स्टैंड जाने वाली सड़क का भी यही हाल है। इस सड़क पर भी जगह जगह गड्ढे और कीचड़ नजर आ रहे हैं। पुराने आरटीओ ऑफिस की सड़क पर भी इतना बड़ा गड्ढा हो चुका है कि आए दिन हादसे होते रहते हैं। बस स्टैंड, नरसरहा डिपो मार्ग, गोदाम मार्ग, स्टेशन रोड, सभी जगह एक सा हाल है।

लगातार हो रही बारिश से केवल सड़के ही बदहाल नहीं हैं बल्कि और भी परेशानियां खड़ी हो गई हैं। बुढार ब्लॉक के जमुनिया में उप स्वास्थ्य केंद्र के आगे पानी भर गया और अस्पताल पहुंचने तक का रास्ता पूरी तरह से बंद हो गया। यहां तक कि अस्पताल के डॉक्टरों कर्मचारियों और मरीजों को भी घुटनों तक पानी में घुसकर अस्पताल पहुंचना पड़ा। अस्पताल के मेडिकल ऑफिसर ने बताया कि हर साल बरसात में ऐसी ही परेशानी सामने आती है। इतना ही नहीं बल्कि कोटी गांव और कुड़ेली गांव के नवा टोला का संपर्क भी टूट चुका है।

बारिश से होने वाली समस्याएं यहीं पर नहीं रुकी। बारिश की वजह से पांडव नगर में बीटीआई कॉलोनी के पास एक बिजली का खंबा बीच सड़क पर गिर पड़ा। उस वक्त सड़क पर कोई नहीं था वरना कोई बड़ी दुर्घटना भी हो सकती थी। लोगों द्वारा बिजली के खंभे के गिरने की सूचना बिजली विभाग को दी गई और खंबे को सड़क से हटाने का काम शुरू हुआ। शहर के कई इलाकों में भी बिजली के खंभे बुरी हालत में है जो कभी भी गिर सकते हैं और बड़ी दुर्घटना हो सकती है। लेकिन प्रशासन इस पर कोई ध्यान नहीं दे रहा है।

दो दिन की बारिश ने प्रशासन के दावों की पोल खोल दी है। शहर में यहां-वहां भरता पानी, टूटी सड़कें, उफनाती नालियां, गड्ढे, कीचड़ लोगों के लिए परेशानी पैदा कर रहे हैं। समय पर ना तो सड़कों की मरम्मत की जाती है ना खतरनाक बिजली के खंभों को बदला जाता है। ठेकेदारों द्वारा लगातार खराब सड़कें बनाई जा रही हैं जो एक बारिश भी नहीं झेल पातीं और टूट जाती हैं। लोगों द्वारा कई बार शिकायतें किए जाने के बाद भी प्रशासन स्थिति की अनदेखी करता है और हर साल लोगों को इस तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें