Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

छात्रा द्वारा शिक्षक पर छेड़खानी का आरोप, कलेक्टर ने फ़ौरन किया निलंबित

पारंपरिक भारतीय व्यवस्था में गुरु-शिष्य का रिश्ता एक बहुत ही पवित्र रिश्ता माना जाता है, जहाँ गुरु या शिक्षक अपने छात्रों में, आध्यात्मिक, वैदिक, नैतिक और अकादमिक शिक्षाओं को संचारित करते है| लेकिन आज का परिदृश्य अब पहले की तरह नहीं रहा। यह पूरी तरह से बदल गया है।

स्कूल जा रहे बच्चों के साथ, छेड़छाड़ और बलात्कार जैसे मामले और अन्य स्कूल संबंधी अपराधों के कई आत्मघाती मामले साफ तरीके से दर्शा रहे हैं कि अब बहुत कुछ बदल चुका है। आज हम बात कर रहे है उमरिया जिले की|

उमरिया में सरकारी सेकेंडरी हाई स्कूल जोबी विकासखंड मानपुर के शिक्षक द्वारा एक बालिका के साथ छेड़छाड़ एवं दुराचार करने के कोशिश का मामला सामने आया है |जिसपे कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव ने शिक्षक को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।

शिक्षक कृष्णकुमार चतुर्वेदी ने नाबालिग छात्रा को कार्यालय कक्ष में बुलाकर छेड़छाड़ कर अश्लील हरकत करने एवं दुराचार करने की कोशिश की थी। जिसकी शिकायत छात्रा ने अपने अभिभावकों से की, जिसके बाद छात्रा के अभिभावक ने 13 सितंबर को थाना इंदवार जनपद पंचायत मानपुर जिला उमरिया में एफ.आई.आर दर्ज कराई|

कृष्णकुमार चतुर्वेदी का यह कृत्य मप्र सिविल सर्विस कंडक्ट के नियम 1965 के क्लॉज 3 के तहत कदाचार की श्रेणी में आता है।आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन एवं एफआईआर पर शिक्षक को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। निलंबन अवधि के दौरान आरोपी को नियमानुसार लिविंग अलाउंस दिया जायगा |

माता-पिता अपने बच्चो को शिक्षकों पर भरोसा करके स्कूल में शिक्षा प्राप्त करने के लिए भेजते है परन्तु ऐसी घटनाओ के बारे में पता चलते ही उनका विश्वास डगमगाने लगता है और उनका मन चिंतित हो जाता है, साथ ही लोगों द्वारा शिक्षा प्रशासन की भी बहुत निंदा की जाती है|

आशा है मामले की निष्पक्ष जांच होगी और दोषी के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी ताकि भविष्य में ऐसी और घटनायें किसी भी छात्र-छात्राओ के साथ न हो |

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें