Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

शिक्षा परिसर को बनाया गया था कोविड केयर सेंटर, अब कहीं पंखा तो कहीं ट्यूबलाइट गायब

कोरोना की भयावह स्थिति ने ऐसी दस्तक दी की जैतहरी मार्ग पर स्थित कन्या शिक्षा परिसर भवन का लोकार्पण 12 फरवरी 2020 को हुआ ही था कि 22 मार्च 2020 को जिला प्रशासन द्वारा ये आदेश दे दिया गया की इस भवन को कोविड केयर सेंटर के रूप में इस्तेमाल किया जाएगा।

इस भवन को 7 सितंबर को फिर एक बार आदिवासी विकास विभाग को सौंप दिया गया। 18 सितंबर को जब कक्षाएं प्रारंभ हुई तो ये सामने आया की छात्रावास से लाखों का सामान चोरी हो चुका है। इसके चलते छात्रावास अधीक्षक व प्राचार्य के द्वारा सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग और कलेक्टर अनूपपुर को इसके संबंध में जानकारी देने के बात की जा रही है।

कोविड की महामारी जब अपनी चरम सीमा पार कर चुकी थी जिसके कारण अनूपपुर में बिस्तरों की कमी देखी गई जिस कारणवश अप्रैल महीने में कन्या शिक्षा परिसर एक कोविड केयर सेंटर में तब्दील करा दिया गया।

यह एक 100 बिस्तरों वाला कोविड सेंटर में संचालित किया गया। मरीजों के साथ साथ पैरामेडिकल स्टाफ यहां तैनात किए गए थे और मरीजों के परिजनों का आना जाना भी लगा रहता था।

7 सितंबर को जब विद्यालय खोलने की अनुमति दे दी गई उसी के साथ साफ सफाई भी शुरू कर दी गई। ये सफाई 12 सितंबर तक चलती रही और जब 18 सितंबर से बच्चों ने स्कूल आना शुरू किया तब यह जानकारी प्राप्त हुई की कहीं छात्रावास के कमरों के पंखे गायब हैं तो कहीं स्टोर रूम का ताला टूटा है, कहीं 100 से अधिक ट्यूबलाइट गायब हैं, तो कहीं 47 से अधिक नलों में लगी टोटियां गायब हैं, कमरे में लगाए गए कई विद्युत उपकरण भी गायब थे। इस मामले की जानकारी प्राचार्य को दी गई है।

कोविड केयर सेंटर में सुरक्षा को और मजबूत करने के लिए कलेक्टर द्वारा सीसीटीवी कैमरे भी लगवाए गए थे। इसके साथ साथ पुलिस को भी इस परिसर के प्रवेश में मुस्तैद किया गया था। बावजूद इसके ऐसी हरकतों को अंजाम दिया गया।

जब सहस्त आयुक्त आदिवासी विकास मंत्री से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा की इस संबंध में स्वस्थ विभाग को पत्र लिखा जा रहा है। और सारा चोरी किया गया सामान दुबारा उपलब्ध कराया जाए।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें