Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

न सड़क, न नालियां, न साफ सफाई, नागरिक सुविधाओं को तरसते डुढहा टोला के लोग

शहडोल के धनपुरी नगरपालिका के वार्ड क्रमांक 23 डुढहा टोला की स्थिति बद से बदतर होती जा रही है। नगर पालिका के आखरी छोर पर बसे इस वार्ड में लगभग 400 आदिवासी परिवार रहते हैं जो मूलभूत सुविधाओं के अभाव में जीवन बिता रहे हैं।

इस वार्ड में अभी तक न तो सड़क बनाई गई है न ही नालियों का इंतजाम है। साफ सफाई का स्तर यह है कि जगह-जगह गंदगी और कचरे के ढेर नजर आ जाते हैं।

न तो यहां स्वच्छ पेयजल के लिए पाइप लाइन बिछाई गई है न ही अनाज के लिए शासकीय राशन दुकानों की व्यवस्था है। वार्ड में नालियां न होने की वजह से गंदा पानी बीच सड़क से होकर बहता है जो बदबू और बीमारियां फैलाता है।

कोयला खदानों की कोल डस्ट भी यहां उड़ती रहती है जिससे लोगों को सांस लेने में परेशानी होती है। यहां तक कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लाभार्थियों को मकान बनाने के लिए राशि भी नहीं मिल पाई है।

400 की जनसंख्या के वार्ड में अभी तक केवल 16 लोगों को ही आवास योजना का लाभ मिल सका है।

अनाज के लिए भी लोगों को कॉलरी नंबर 3 कॉन्प्लेक्स तक 8 किलोमीटर पैदल चलकर जाना पड़ता है। वार्ड में न तो शासकीय राशन दुकान की व्यवस्था है न ही अनाज आपूर्ति की। पेयजल को लेकर भी आज तक यहां पाइप लाइन नहीं बिछाई गई है।

यह स्थिति किसी गांव की नहीं बल्कि प्रदेश की सबसे संपन्न नगर पालिका में से एक धनपुरी के वार्ड की है। सड़क न होने की वजह से बरसात में जगह-जगह कीचड़ और दलदल हो जाती है। जिससे लोगों को आने जाने में परेशानी का सामना करना पड़ता है। वार्ड की स्थिति को लेकर स्थानीय लोगों में भी नाराजगी बढ़ती जा रही है।

लोगों ने कई बार अपने स्थानीय प्रतिनिधियों और नगरपालिका अधिकारियों से इस संबंध में बात की और शिकायत दर्ज कराई है लेकिन नगर पालिका आंख बंद करके बैठी है और लोग परेशान हो रहे हैं।

इन आदिवासी परिवारों की समस्याओं को जल्द से जल्द सुना जाना चाहिए और वार्ड में मूलभूत सुविधाओं की व्यवस्था की जानी चाहिए।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें