Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

लगातार बढ़ रहे सड़क हादसों को कम करने के लिए जिला कलेक्टर ने स्वयं की वाहनों की जांच पड़ताल

उमरिया में रोज़ाना तेज़ी से बढ़ रहे सड़क हादसों को लेकर प्रशासन ने एक बहुत ही ठोस कदम उठाने का फैसला लिया। सरकार से मिले निर्देशानुसार इस बुधवार से जिला कलेक्टर संजीव श्रीवास्त्व ने इन सड़क हादसों को कम करने के लिए एक जांच अभियान चलाया।

उन्होंने ये जांच अभियान रैंडम्ली और इतना अचानक शुरू किया कि कानो-कान किसी को इस बारे में कोई खबर नहीं मिली। जिससे ये अच्छी बात हुई की कलेक्टर द्वारा वाहन चालक, जो कि सुरक्षा नियमों का पालन नहीं कर रहे थे उनकी अच्छी खबर ली गई, साथ ही उन पर पुलिस द्वारा सख्त कार्यवाही भी की गई।

कलेक्टर द्वारा इस अभियान की शुरुआत चंदिया से हुई जहां वह रात 12 बजे पहुंचे। यहां उन्होंने आधा दर्ज़न से अधिक बसों व वाहनों की जांच की। इसी दौरान उन्होंने बिलासपुर से बनारस जा रही एक बस को रोका और जब उसकी जांच के लिए वह बस के अंदर गए तो उन्होंने देखा की 35 सीटर बस में करीब 80 यात्री सफर कर रहे थे।

ये देखकर कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव ने बेहद नाराज़गी जताई और बस को सीधा पुलिस थाने में खड़ा करवा दिया। बस में उसकी कैपेसिटी से 2 गुना ज़्यादा यात्री भरे गए थे, साथ ही बस में 2 दरवाज़ों की बजाए 1 ही दरवाज़ा पाया गया जिस पर तुरंत ही पुलिस द्वारा कार्यवाही शुरू की गई और बस को जब्त कर लिया गया।

इसके अलावा वहां से गुज़रते एक अवैध रेत हाईवा को भी जब्त कर आगे पुलिस कस्टडी में भेजा गया। इसी तरह से और भी कई चार पहिया वाहनों व ट्रक की जाँच की गई और उनपे नियमानुसार रिकॉर्ड देख कार्यवाही शुरू की गई।

अभियान द्वारा जारी ये जांच-पड़ताल रात 12 बजे से रात डेढ़ बजे तक चली। इसमें मुख्य रूप से बस नंबर यूपी 72 एटी 9933 मिली, प्रयागराज जाते समय बस ड्राइवर से रिकॉर्ड तलाश किये गए।

जिला कलेक्टर द्वारा अचानक शुरू की गई इस जांच पड़ताल का बहुत लाभ मिलेगा। कई सड़क हादसों से बचा जा सकेगा व कई वाहन चालकों द्वारा सुरक्षा नियमों का पालन न करने पर उन पर सख्त कार्यवाही भी की जायगी।इससे इन सभी वाहन चालकों को एक सबक मिलेगा और वह भविष्य में कभी भी नियमों का निरादर नहीं करेंगे।

आशा है कि इस अभियान के बाद अब सड़क हादसों को कम किया जा सकेगा।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें