Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

एनएसयूआई ने सौंपा ज्ञापन, छात्रों के हित की करी मांग

हाल ही में एनएसयूआई जिलाध्यक्ष विक्रम सिंह एवं जिला समन्वयक आशीष तिवारी के मार्गदर्शन एवं नगर अध्यक्ष सौरभ तिवारी के नेतृत्व में कुलपति, पंडित शंभूनाथ शुक्ला विश्वविद्यालय शहडोल और कलेक्टर महोदया को विभिन्न मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा गया है।

कलेक्टर को सौंपे ज्ञापन में माइन सर्वे डिप्लोमा के छात्रों के संदर्भ में अप्रेंटिसशिप प्रक्षिषण की सीट बढ़ाने को लेकर के बात की गई है। जहां अप्रेंटिसशिप के पद पर 2020-21 के छात्रों के लिए केवल 310 पद ही निकाले गए हैं। इस कारनवाश छात्रों को पर्याप्त पद उपलब्ध नही हो पा रहे हैं। ज्ञापन में आगे माइन सर्वे डिप्लोमा के छात्रों के लिए खनन से पृथक सीट आवंटित की जाने की भी मांग जताई गई है।

कुलपति, पंडित शंभूनाथ शुक्ला विश्वविद्यालय शहडोल को सौंपे ज्ञापना में छात्र छात्राओं की समस्या के निवारण करने हेतु कुछ मांगो का जिक्र किया गया था। इन मांगों में विद्यालय प्रारंभ होने के बावजूद वाहन ना चलने से छात्रों को मुसीबतों का सामना करना पड़ता है, का जिक्र किया गया था जो कि नगर अध्यक्ष सौरभ तिवारी से बात करने पर पता चला की इसका तत्कालीन निराकरण करने का कुलपति द्वारा वादा किया गया है।

जहां निशुल्क बस सुविधा देने की बात कही गई है। कैंटीन बंद होना से लेकर के छात्रावास न खुलने तक इन सभी मांगो को ज्ञापन में रखा गया है जिसका अभी तक कोई निराकरण सामने निकल करके नही आया है।

नगर अध्यक्ष सौरभ तिवारी ने बताया कि विभिन्न कोर्सों की फीस भी अनियमित एवं अधिक ली जा रही है जिस करणवाश छात्रों को काफी संकट से गुजरना पड़ रहा है।

ज्ञापन सौंपते समय शुभम सोधिया, मयंक सिंह, ऋषभ दुबे, अमन मिश्रा, अश्मित, हर्षित, अमन, आशीष, तरुण, साकिर, सौरभ, राज, प्रिंस, सुमित, अनुज, साहिल, सैकड़ों की तादाद में एनएसयूआई के कार्यकर्ता मौजूद थे।

उम्मीद यही होगी की छात्र छात्राओं के हित में उक्त समस्याओं का निराकरण करने की कोशिश प्रशासन द्वारा की जाएगी।

हाल ही में एनएसयूआई जिलाध्यक्ष विक्रम सिंह एवं जिला समन्वयक आशीष तिवारी के मार्गदर्शन एवं नगर अध्यक्ष सौरभ तिवारी के नेतृत्व में कुलपति, पंडित शंभूनाथ शुक्ला विश्वविद्यालय शहडोल और कलेक्टर महोदया को विभिन्न मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा गया है।

कलेक्टर को सौंपे ज्ञापन में माइन सर्वे डिप्लोमा के छात्रों के संदर्भ में अप्रेंटिसशिप प्रक्षिषण की सीट बढ़ाने को लेकर के बात की गई है। जहां अप्रेंटिसशिप के पद पर 2020-21 के छात्रों के लिए केवल 310 पद ही निकाले गए हैं। इस कारनवाश छात्रों को पर्याप्त पद उपलब्ध नही हो पा रहे हैं। ज्ञापन में आगे माइन सर्वे डिप्लोमा के छात्रों के लिए खनन से पृथक सीट आवंटित की जाने की भी मांग जताई गई है।

कुलपति, पंडित शंभूनाथ शुक्ला विश्वविद्यालय शहडोल को सौंपे ज्ञापना में छात्र छात्राओं की समस्या के निवारण करने हेतु कुछ मांगो का जिक्र किया गया था। इन मांगों में विद्यालय प्रारंभ होने के बावजूद वाहन ना चलने से छात्रों को मुसीबतों का सामना करना पड़ता है, का जिक्र किया गया था जो कि नगर अध्यक्ष सौरभ तिवारी से बात करने पर पता चला की इसका तत्कालीन निराकरण करने का कुलपति द्वारा वादा किया गया है।

जहां निशुल्क बस सुविधा देने की बात कही गई है। कैंटीन बंद होना से लेकर के छात्रावास न खुलने तक इन सभी मांगो को ज्ञापन में रखा गया है जिसका अभी तक कोई निराकरण सामने निकल करके नही आया है।

नगर अध्यक्ष सौरभ तिवारी ने बताया कि विभिन्न कोर्सों की फीस भी अनियमित एवं अधिक ली जा रही है जिस करणवाश छात्रों को काफी संकट से गुजरना पड़ रहा है।

ज्ञापन सौंपते समय शुभम सोधिया, मयंक सिंह, ऋषभ दुबे, अमन मिश्रा, अश्मित, हर्षित, अमन, आशीष, तरुण, साकिर, सौरभ, राज, प्रिंस, सुमित, अनुज, साहिल, सैकड़ों की तादाद में एनएसयूआई के कार्यकर्ता मौजूद थे।

उम्मीद यही होगी की छात्र छात्राओं के हित में उक्त समस्याओं का निराकरण करने की कोशिश प्रशासन द्वारा की जाएगी।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें