Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

शहडोल में इस बार मानसून रहा बेहतर, अच्छी फसल की उम्मीद

देश में बारिश का सीजन लगभग जा चुका है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार शहडोल में भी इस बार अच्छी बारिश हुई है और मानसून को बेहतर कहा जा सकता है। लेकिन अच्छी बारिश के बाद भी जिले के बाणसागर डैम के गेट खोलने की आवश्यकता नहीं पड़ी‌।

बारिश से क्षेत्र के नदी, तालाब और कुएं सब भर गए हैं। जिनसे गेहूं की फसल की सिंचाई का काम लिया जाएगा। इस बार खरीफ की फसल की भी अच्छी पैदावार की उम्मीद है।

लेकिन बारिश का मौसम निकलने के साथ ही वातावरण में उमस और गर्मी बढ़ गई है, साथ ही रात में ठंडक का एहसास होने लगा है। ऐसे मिले जुले मौसम में वायरल फीवर, उल्टी दस्त आदि की शिकायतें बढ़ जाती हैं, इसलिए लोगों को सावधान रहने की भी हिदायत दी गई है।

बाणसागर बांध की बात करें तो इस साल डैम में जलभराव की अधिकतम सीमा 340.35 मीटर दर्ज की गई जबकि यहां खतरे का निशान 341.64 मीटर है। जिले में बारिश भी इस बार अच्छी हुई है।

1 सितंबर से 30 सितंबर के बीच जिले में लगभग 96 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई है जबकि पिछले वर्ष इसी अवधि में 92 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई थी। कृषि क्षेत्र के जानकार बताते हैं कि इस बार अच्छी बारिश हुई है जिससे धान की फसल के भी अच्छी होने की उम्मीद है।

बारिश के बाद अक्टूबर हीट के चलते स्वास्थ्य विभाग द्वारा भी लोगों को अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखने की हिदायत दी जा रही है। जिले में डेंगू और मलेरिया के केस बढ़ते जा रहे हैं इसलिए लोगों से अपील की गई है कि मच्छर मक्खियों से खुद को बचा कर रखें और तबीयत खराब होने की स्थिति में डॉक्टर की सलाह लें। कृषि विभाग द्वारा भी इस बार की फसलों की खरीद का रजिस्ट्रेशन शुरू हो चुका है और फसल खरीद के इंतजाम पूरे कर लिए गए हैं।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें