Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

मालगाड़ी क्रैश होने से रेल खंड पर यातायात हुआ थप

शनिवार-रविवार की रात करीब 2.30 बजे अंबिकापुर रेलवे स्टेशन पर सामान अनलोडिंग कर बिलासपुर लौट रही बीसीएन एमटीएक्स मालगाड़ी कमलपुर रेलवे स्टेशन पर क्रैश हो गई। अंबिकापुर रेलवे स्टेशन से महज 7 किलोमीटर दूर कमलपुर स्टेशन के पास पहुंचते ही बीसीएन बहुत बुरी तरह से क्रैश हो गई। ट्रेन के पहिए पटरी से उतरने से गाड़ी के 5 डिब्बे आपस में टकरा गए और एक-दूसरे के ऊपर चढ़ गए।

मालगाड़ी की स्पीड इतनी ज्यादा थी कि उसके क्रैश होते ही उसके कई पहिए निकलकर पटरियों पर इधर-उधर बिखर गए। गनीमत रही कि इस दौरान कोई यात्री ट्रेन वहां से नहीं गुज़र रही थी वरना एक बहुत बड़ा हादसा हो सकता था। साथ ही ट्रेन चालक और परिचालक भी हादसे में बाल-बाल बचे।

हादसे के बाद से ही रेल खंड पर यातायात थप हो गया है और इस कारण हज़ार यात्रियों को बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

मालगाड़ी क्रैश होने के बाद सुबह करीब सवा 6 बजे अंबिकापुर रेलवे स्टेशन से छूटने वाली अंबिकापुर-जबलपुर ट्रेन भी प्रभावित हुई।अब इस ट्रेन के दोपहर में लगभग 4.15 बजे छूटने की बात कहीं जा रही हैं। उसके बाद यह ट्रेन अनूपपुर में शाम 7 बजे और जबलपुर में रात 11 बजे के बाद पहुंचने की संभावना भी बताई जा रही है। किंतु अभी कुछ सुनिश्चित नहीं किया जा सकता कि यह कथित समय पर पहुंच पाएगी या नहीं और अगर इससे ज्यादा लेट होता है तो यह ट्रेन कैंसिल भी हो सकती हैं। इस कारण से यात्रियों को ट्रेन के लिए बहुत लंबे समय का इंतज़ार करना पड़ सकता है, जिससे उनके कई महत्वपूर्ण कार्य रुक सकते है और उन्हें भारी नुकसान भी झेलना पड़ सकता है।

बोरी डांड से अंबिकापुर तक सिर्फ एक ही ट्रेक है और आने-जाने के लिए एकमात्र ट्रेक होने की वजह से रेल खंड पर यातायात थप पड़ गया है। सिंगल ट्रेक के कारण यात्री गाड़ियों का परिचालन भी रुक गया था जो कि अभी तक शुरू नहीं हो पाया है।

जानकारी के अनुसार फिलहाल रेलवे कर्मचारी पटरियों को खाली करने की कोशिश में जुटे हुए हैं। और अभी भी मरम्मत का काम चल रहा है। उम्मीद है जल्द ही मरम्मत का काम पूरा होगा और सभी ट्रेनें चालू हो सकेंगी।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें