Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

समय पर नहीं खुलते स्कूल के गेट, 11 बजे के बाद आते हैं शिक्षक

मानपुर विधानसभा क्षेत्र के तहत लंका टोला में स्कूल का दृष्य देखते ही प्रशासन की लापरवाही नज़र आ जाती है। लापरवाही इतनी है कि स्कूलों के गेट को 11 बजे के पहले खोला ही नहीं जाता और ये हाल केवल एक स्कूल का नहीं बल्कि क्षेत्र के आस पास सभी स्कूलों की भी यही हकीकत है।

कुछ स्कूल गाँव क्षेत्र के अंदर हैं जिस कारण कुछ शिक्षक वहां जाते ही नहीं हैं और जब इसी के चलते उनसे पूछा गया तो उनका कहना था की बच्चे लेट आते हैं, तो हम जल्दी आके करेंगे क्या? लेकिन वहीं ग्रामीणों व स्थानीय लोगों का कहना है कि इसमें बच्चों की किसी भी प्रकार की कोई गलती नहीं है, यदि गलती है तो शिक्षक की, क्यूंकि यदि उनके द्वारा समय पर आकर स्कूल के गेट खोल दिए जाएँ और बच्चों को यह बता दिया करें की अबसे स्कूल समय पर खुल सकेगा तब जा कर के बच्चे स्कूल समय पर पहुँच सकेंगे।

एक लम्बे अरसे बाद स्कूलों को खोलने के अनुमति दी गई है, कोरोना के कारण लोकडाउन लगने से शिक्षा व्यवस्था ढीली पड़ गयी थी। अब जब आखिरकार फैसला ले लिया गया है तो ऐसी चीज़ें सामने निकल कर के आती हैं। लॉकडाउन के चलते शिक्षकों को काफी छुटियाँ मिल चुकी हैं, लेकिन अब उन्हें समय पर विद्यालय पहुँच कर स्कूल खोल बच्चों के लिए ज्ञान का भण्डार खोलना चाहिए।

और प्रशासन हमेशा की ही तरह लोगों की परेशानियों से दुरी बना के रखता है, यदि सख्त कानून बना दिए जायें तो मजाल है कि ऐसे काम हों। अब शिक्षकों के लिए जब जागो तब सवेरा वाली बात हो जाती है कि जब चाहे मन माने समय पर विद्यालय परिसर के गेट खोल दिए। शिक्षा एक मूलभूत सुविधा है जो देश की उन्नति और विकास पर सीधा सीधा असर डालती है।

ब्लॉक शिक्षा अधिकारी बताती हैं की उन्हें इसकी जानकारी नहीं है, जानकारी उपलब्ध होते ही स्कूलों को नोटिस जारी कर दिया जाएगा।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें