Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

अपराध अनुसंधान विभाग ने जारी की अपराध आंकड़ों पर आधारित प्रेस विज्ञप्ति

अपराध अनुसंधान विभाग पुलिस मुख्यालय भोपाल के निर्देश पर एक प्रेस नोट जारी किया गया है जिसमें शहडोल जोन के अपराध संबंधी आंकड़ों का लेखा-जोखा दिखाया गया है। शहडोल जोन जिसमें शहडोल, उमरिया, अनूपपुर और डिंडोरी जिले शामिल है इनमें आपराधिक मामलों की स्थिति, उनकी विवेचना, निराकरण, दोष सिद्धि और दोषमुक्ति संबंधी अनेक जानकारियां इस नोट में जारी की गई हैं।

शहडोल जोन के 4 जिलों की बात करें तो वर्ष 2021 में 26 अक्टूबर 2021 की स्थिति तक कुल 49 जघन्य सनसनीखेज अपराधों को चिन्हित किया गया है। इनमें से शहडोल में 19, उमरिया में 11, अनूपपुर में 11, डिंडोरी में 8 इस तरह के अपराध चिन्हित किए गए हैं।

इसी प्रकार 2008 से दिनांक 30 सितंबर 2021 की स्थिति तक जघन्य सनसनीखेज प्रकरण में दोष सिद्धि का प्रतिशत 65.81, एवं दोषमुक्ति का प्रतिशत 34.19 आंका गया है। जानकारी है कि मध्य प्रदेश के पुलिस महानिदेशक द्वारा अपराधियों के रिकॉर्ड दर्ज करने और उन में कमी लाने के संदर्भ में जो एक विशेष अभियान चलाया जा रहा है, यह प्रेस नोट उसी का एक हिस्सा है।

पुलिस महानिदेशक मध्यप्रदेश का मानना है कि सभी लंबित, जमानती, गिरफ्तारी, स्थाई वारंटी की तामीली से संबंधित मामले जो इस रिकॉर्ड में दर्ज किए गए हैं, वे सभी माननीय न्यायालय में लंबित प्रकरणों के विचारण की प्रक्रिया में मील का पत्थर साबित होंगे।

निश्चित तौर पर अपराधों का इस तरह सूचीकरण, उनका विभाजन न्याय प्रक्रिया में एक अहम भूमिका निभाता है और साथ ही साथ समाज में हो रही अपराधिक गतिविधियों की मॉनिटरिंग करने और उससे संबंधित योजनाओं को बनाने में भी योगदान देता है। पुलिस महानिदेशक का कहना है कि पुलिस विभाग द्वारा लगातार ऐसी व्यवस्था बनाए जाने के प्रयास किए जा रहे हैं जिससे समाज में अपराधिक गतिविधियों में कमी लाई जा सके।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें