Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

टेंडर प्रक्रिया के बाद भी कंपनी नहीं कर रही ओपन कास्ट माइंस में काम, लगभग 200 कर्मचारी बैठे हैं नौकरी की आशा में

शहडोल जिले के एसईसीएल सुहागपुर के तहत अमलाई ओपन कास्ट माइंस में एमएस राणा कंपनी को ओबी निकालने के लिए टेंडर दिया गया था। कोल प्रबंधन द्वारा 400 करोड रुपए का टेंडर निकाला गया था। पहले तो इस टेंडर प्रक्रिया को पूरी होने में बहुत समय लगा लेकिन इसके बाद भी जिस राणा कंपनी को ओबी निकालने का टेंडर सौंपा गया था, उसने अभी तक यहां काम शुरू नहीं किया है।

इतना ही नहीं बल्कि कंपनी द्वारा बैंक गारंटी की राशि भी जमा नहीं कराई गई है। इसी को देखते हुए कोल प्रबंधन ने भी कंपनी के खिलाफ नोटिस जारी किया है और कोल प्रबंधन द्वारा जारी किए गए इस नोटिस की तारीख 27 अक्टूबर को खत्म हो चुकी है। इसके बावजूद कंपनी ने काम शुरू करने पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

जानकारी है कि कोल प्रबंधन ने 400 करोड़ रुपए का टेंडर निकाला था लेकिन एम एस राणा कंपनी द्वारा 220 करोड रुपए में ही टेंडर लिया गया और यही कारण बताया जा रहा है कि इतने कम रेट में कंपनी काम करने के लिए तैयार नहीं हो रही है। इस कंपनी के पहले ढोलू कंपनी को ओबी निकालने का काम दिया गया था।

कुछ समय पहले लोगों में इस तरह की भी खबरें थीं कि एमएस राणा कंपनी टेंडर लेकर के किसी पेटी कांट्रेक्टर के द्वारा ओबी निकलवा सकती है, लेकिन अभी तक इस पर भी कोई कार्यवाही नहीं हो सकी। जानकार बताते हैं कि यदि कंपनी ने टेंडर रद्द किया तो फिर से नया टेंडर लाने में और इसकी प्रक्रिया पूरी करने में काफी लंबा समय लग जाएगा। इस बीच वे कर्मचारी जो पिछली कंपनी में काम कर रहे थे वे बेरोजगार बैठे हुए हैं ऐसे कर्मचारियों की संख्या लगभग 200 के आसपास है और यह आज भी कंपनी के काम शुरू करने का इंतजार कर रहे हैं ताकि इन्हें रोजगार मिल सके।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें