Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

भ्रष्टाचार छुपाने के लिए रातों रात चूने से पुताई करने की फिराक में थे अधिकारी

भ्रष्टाचार का मामला फिर एक बार सामने निकल कर के आया है जिसके परिणाम आम इंसान को ही हमेशा की तरह भुगतने पड़ रहे हैं। कुछ समय पूर्व जनपद कोतमा के ग्राम पंचायत खमरौध में ग्रामीणों की सुविधा के लिए हैंड पंप के करीब एक स्नानघर का निर्माण कराया जा रहा था, जब इसी निर्माण कार्य का जायजा लेने एसडीओ जीके मिश्रा पहुंचे तो क्या पाते हैं, स्टीमेट के अनुरूप स्नानघर के निर्माण कार्य तो हुए ही नहीं हैं।

इसके चलते मौके पर उपस्थित उपयंत्री व सचिव को एसडीओ ने जमकर फटकार लगाई और साथ ही निर्माण कार्य को जल्द से जल्द पूर्ण करने के आदेश दे दिए गए। अब सोचने वाली बात यह है कि न जाने कितने निर्माण कार्य में उपयंत्री और सचिव की जोड़ी ने भ्रष्टाचार किया होगा। कमीशन लेकर ग्रामीणों के लिए आ रही योजनाओं पर पलीता लगाने में यह जिम्मेदार अधिकारी कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं।

गौरतलब है कि जैसे ही खबर पब्लिश हुई तो उपयंत्री और सचिव दोनों द्वारा भ्रष्टाचार छिपाने के लिए स्नानघर की अगले ही दिन चूने से पुताई करने की कोशिश की गई पर इनका जुगाड़ ग्रामीणों के समक्ष फेल हो गया और इनका असली चेहरा जनता के समक्ष आया।

जैसा कि पहले भी कहा गया कि उपयंत्री और सचिव की जोड़ी ने न जाने कितने भ्रष्टाचार किए होंगे, उन्ही में से एक की खबर सामने आई है जहां नाली निर्माण के लिए 246000 लाख की लागत थी जिसको इस जोड़ी ने ठेके पर दे दिया, जिसके बाद ठेकेदारों द्वारा मनमानी कर नाली निर्माण कार्य पूरा होना बाता दिया गया। लेकिन गुणवत्ता युक्त नाली निर्माण नही मिल सका और इस बात पर ग्रामीणों ने आपत्ति भी जताई थी।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें