Common road has been closed in Umaria for 1 year! Tehsildar did not take any action.
Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

उमरिया में 1 साल से बंद कर रखा है आम रास्ता! तहसीलदार ने नहीं की कोई कार्यवाही।


उमरिया जिले में हुई जनसुनवाई में एक व्यक्ति द्वारा जबरदस्ती आम रास्ता बंद करने का मामला सामने आया है। बान्दा के रहने वाले महेश चौधरी, दुखिलाल चौधरी और कौशल चौधरी ने जनसुनवाई में आवेदन कर बताया कि मोलाई चौधरी नाम के व्यक्ति ने मनमानी पूर्वक आम रास्ते को बंद कर रखा है। उनका परिवार और मोलई चौधरी एक ही चंदिया में एक ही भूमि पर रहते हैं, लेकिन मोलई चौधरी ने आने-जाने के रास्ते पर कब्जा कर रखा है।

लगभग 1 साल से आम रास्ता बंद होने से अन्य ग्रामीणों को भी काफी परेशानी झेलनी पड़ रही है।
ऐसा नहीं है कि मामले की जानकारी प्रशासन को नहीं थी। इसके पहले भी रास्ता खुलवाने के लिए ग्रामीणों ने आवेदन दिया था, जिसके बाद यहां के तहसीलदार को रास्ता खुलवाने के लिए आदेशित किया गया। लेकिन आज तक तहसीलदार ने कोई कार्यवाही नहीं की। किन कारणों से अब तक कोई एक्शन नहीं लिया गया? तहसीलदार द्वारा आदेश मिलने पर भी रास्ता ना खुलवाना, कब्जा करने वाले संबंधित व्यक्ति के रसूख और अड़ियल रवैये की ओर इशारा कर रहा है।


जनसुनवाई में आए एक और मामले में अधिकारियों के सुस्त रवैये और काम करने में लापरवाही बरतने की बात सामने आई है। बिरसिंहपुर पाली की रहने वाली महिला ने बताया कि उन्होंने 1 जुलाई 2019 एवं 25 अक्टूबर 2021 को अपना राशन कार्ड बनवाने के लिए आवेदन प्रस्तुत किया था, लेकिन अब तक ना तो पटवारी ने निरीक्षण किया, ना ही राशन कार्ड बन पाया है। गरीब महिला अपने दो बच्चों के साथ रहती है। महिला का पक्का मकान भी नहीं होने से पीएम आवास योजना के बड़े-बड़े पोस्टर बेमतलब के साबित हो रहे हैं।

सरकार की तरफ से गरीबों के लिए कई महत्वाकांक्षी योजनाएं तो बड़े जोर-शोर से शुरू की जाती हैं। उन पर राशि भी खूब आवंटित की जाती है। लेकिन असल जरूरतमंदों तक इसका लाभ पहुंचे ऐसी व्यवस्था नहीं की जाती। सरकार को चाहिए कि बड़े स्तर पर योजना के क्रियान्वयन के साथ-साथ निचले स्तर पर भी इसकी कार्यशैली दुरुस्त की जाये।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें