How comfortable are the girls of Shahdol about periods
Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

कितनी सहज हैं शहडोल की लड़कियां पीरियड्स को लेकर

पीरियड्स एक प्राकृतिक प्रक्रिया है  

शहडोल की लड़कियां खुल कर बात कर रही है पीरियड्स को लेकर  

अभी भी नहीं करती घर के मेल सदस्य से बातें  

अभी भी समाज में पीरियड्स को लेकर दकियानूसी सोच कायम  

पूजाघर या पूजा स्थल पर जाना पीरियड्स में मना  

शरीर को आराम देने की प्रथा बनी कुप्रथा  

समाज के ऐसे दकियानूसी विचारों से निकलने की जरूरत  

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें