Political stir in Punjab, Navjot Singh Sidhu's sister made serious allegations against brother: Suman Tur, Sidhu
Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

पंजाब में राजनीतिक हलचल तेज, नवजोत सिंह सिद्धू की बहन ने भाई पर लगाये गंभीर आरोप।

आज मैं आपको तरह-तरह की हलचलो के बारे में बताने जा रही हूं। इस बोतल में एकदम साधारण पानी है लेकिन आपको एक उदाहरण देना था जिसमें समुद्र की जरूरत है। अब समुद्र हाथ में तो नहीं आ सकता, इसलिए आपको क्या करना है कि इस बोतल को समुद्र और इसके पानी को समुद्र का विशाल जल भंडार समझना है। अब अभी तक तो यह पानी स्थिर था, लेकिन अचानक हमारे समुद्र में एक जबरदस्त सुनामी आ जाती है। पानी में हलचल मच जाती है। यह हुआ हलचल का एक प्रकार। एक और तरह की हलचल होती है जिसे हम भूकंप कहते हैं। कुछ कम तीव्रता के भूकंप होते हैं जो आकर चले जाते हैं, कुछ ज्यादा तीव्रता के विनाशकारी भूकंप कहलाते हैं।

तीसरी तरह की हलचल होती है राजनीतिक हलचल, चुनावी हलचल। पहले जो दो तरह की हलचल मैंने आपको बताई उनके मुकाबले ये वाली हलचल हमारे देश में काफी प्रचलित है और दोनों के मुकाबले इसकी तीव्रता और प्रभाव हमारे देश में ज्यादा देखे जा सकते हैं। विधानसभा चुनाव घोषित होने से जनवरी महीना इस तरह की हलचल और उसकी तीव्रता का साक्षी रहा और चूंकि फरवरी और मार्च में वोटिंग होनी है तो इस हलचल के देर तक बने रहने की संभावना है।


इस समय हलचल देखी जा रही है, पंजाब के गलियारों में। नवजोत सिंह सिद्धू की एन आर आई बहन सुमन तूर ने अपने भाई और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू पर गंभीर आरोप लगाए हैं। चंडीगढ़ में प्रेस कांफ्रेंस बुलाकर सुमन ने कहा कि नवजोत क्रूर व्यक्ति हैं। उनके भाई ने पिता की मौत के बाद माँ निर्मल कौर और बहनों को घर से निकाल दिया और उनकी संपत्ति हथिया ली। मीडिया के सामने उन्होंने रोते हुए बताया कि किस तरह 1986 में नवजोत सिंह सिद्धू ने मां को लावारिस छोड़ दिया था, जिसके कारण 3 साल बाद दयनीय अवस्था में दिल्ली रेलवे स्टेशन पर मां की मौत हो गई।

इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में सुमन तूर को एक फोटो के साथ देखा जा रहा है। फोटो नवजोत सिंह सिद्धू का है जिसमें उनकी उम्र कुछ 8 से 9 साल लग रही है और वे अपने पिता के साथ खड़े हैं। सुमन तूर फोटो के माध्यम से सिद्धू के उस बयान को झूठा बता रही हैं जिसमें उन्होंने कहा था कि मात्र 2 साल की उम्र में उनके माता-पिता न्यायिक तौर पर अलग हो गए थे। वह कह रही है कि उनके भाई ने पैसों के लिए उन्हें घर से बाहर निकाल दिया और घर अपने नाम कर लिया। जब उनसे पूछा गया कि आप इतने सालों बाद अचानक से चुनाव के पहले इस मुद्दे को सामने क्यों लाई हैं, पहले इसके बारे में क्यों नहीं बात की तो वे कहती हैं कि सिद्धू के दिए गए झूठे बयानों के खिलाफ उनके पास साक्ष्य नहीं थे और वे यही साक्ष्य इकट्ठा कर रही थी। उन्होंने कहा कि मैं चाहती थी कि जनता के सामने सिद्धू माँ से किए गए व्यवहार पर माफी मांग ले लेकिन उन्होंने मेरे उनके घर जाने पर दरवाजा तक नहीं खोला, जिससे मुझे प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाना पड़ा।


इस पूरे मामले पर नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर ने कहा कि वह सुमन तूर को जानती ही नहीं सुमन उनके ससुर की पहली पत्नी से बेटी हैं, उनसे मैं नहीं मिली। नवजोत सिंह सिद्धू की ओर से अब तक इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। सुमन तूर के दावे सच के पैमाने पर खरे उतरते हैं या नहीं, यह तो तय नहीं है लेकिन देश में चुनावी हलचलो का यह दौर अभी खत्म नहीं होगा। इसकी गारंटी मैं आपको जरूर दे रही हूं।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें