Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

पाकिस्तान में कश्मीर एकता दिवस मनाने पर भारत,पाकिस्तान आमने-सामने।

भारत और पाकिस्तान का नाम जब भी साथ में लिया जाता है तब सिर्फ इन दोनों देशों की आपस में वर्षों से चली आ रही लड़ाई पर ही बात होती है। भारत की सबसे खूबसूरत जगह जम्मू कश्मीर का मसला दोनों देशों के साथ-साथ विश्व भर में बार-बार उठाया जाता रहा है।

27 अक्टूबर 1947 को जम्मू कश्मीर के भारत में विलय होने के बाद से ही पाकिस्तान लगातार कश्मीर मसले को विश्व मंच पर उठाता रहा है। 1947 से लेकर 2021 में अनुच्छेद 370 खत्म होने के बाद आज भी कश्मीरी लोग अपने अधिकारों के लिए लड़ाई लड़ते देखे जा रहे हैं।

कश्मीर जैसी जगह का नाम आने पर यहां आंखों में खूबसूरत तस्वीरें ज़ेहन में तैरनी चाहिए, लेकिन यहां बंदूको,पत्थरबाजों, प्रतिबंधों, आतंकी खतरों की तस्वीरें ही सामने आती हैं। भारत की सरकारों ने कश्मीर मसले को सुलझाने की तमाम कोशिशें की। मौजूदा सरकार द्वारा अनुच्छेद 370,जो कि कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देता था, उसे हटाने पर भी कश्मीरी लोग एकमत होते नहीं दिख रहे हैं।

हमारा पड़ोसी देश पाकिस्तान इस मामले पर लगातार बयानबाजी तो करता ही है इसके साथ ही हर साल 5 फरवरी को पाकिस्तान में कश्मीर मुद्दे पर कश्मीर सॉलिडेरिटी डे मनाया जाता है। इस दिन सरकारी छुट्टी दी जाती है, रैलियां निकाली जाती है, जगह-जगह प्रदर्शन किए जाते हैं। 1990 से पाकिस्तान में कश्मीर दिवस मनाया जा रहा है। इस साल भी मौजूदा इमरान खान सरकार ने कश्मीर दिवस मनाने की घोषणा की थी।

आज सुबह से ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति सहित सरकार के कई मंत्री लगातार ट्वीट कर इस पर बयान दे रहे हैं।पाकिस्तान के शहरों में बड़ी संख्या में लोग इकट्ठा होकर प्रदर्शन कर रहे हैं, रेलवे स्टेशन पर सरकार द्वारा कश्मीर सॉलिडेरिटी डे के पोस्टर तक लगवाए गए हैं। साथ ही यहाँ के विदेश मंत्रालय ने ‘मेरे कश्मीर’ नाम से एक गाना जारी किया है।

भारत की ओर से इसके जवाब में कश्मीरी लोगों की खुशहाली की तस्वीरें साझा की जा रही है। #IAM KASHMIR और #FEB5ANTITERRORISMDAY के साथ इंडियन आर्मी के चिनार कॉर्प्स ने ट्वीट किया कि ‘युवा कश्मीर के भविष्य की आशा है। उनकी एकता और ताकत पर हमें भरोसा करना चाहिए। कश्मीर एक साथ खड़ा है।’

तिरंगे के रंग में रंगा लाल चौक, कश्मीरी बच्चे की भारतीय जवान के कंधे पर बैठे हँसती तस्वीर और बच्चों की तिरंगा फहराते हुए कई तस्वीरें शेयर की जा रही है।
‘कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा था है और रहेगा’। यह बात भारत में खूब कही जाती है।

इसके स्थान पर अगर ‘कश्मीरी लोगों’ को भारत का अभिन्न हिस्सा माना जाए, उनके अधिकारों पर भी बात की जाए, उन्हें अपने बराबर रखा जाए। तब कैसा रहे? पाकिस्तानी सरकार के मकसद उसकी कश्मीर राग को बाजू में रखकर हमें और हमारी सरकार को कश्मीर और कश्मीर के लोगों के बारे में करीब से जानने और उनके हक के लिए बात करने जरूर आगे आना चाहिए।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें