Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

अजीत डोभाल के घर security breach, आखिर कौन घुस रहा था उनके घर? और क्यूँ ?

दिल्ली में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल (NSA Ajit Doval) के घर में बुधवार को एक शख्स के घुसने की कोशिश हड़कंप मच गया। पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया है। उससे पूछताछ की जा रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पूछताछ में शख्‍स ने दावा किया कि किसी ने उसके शरीर में चिप लगा रखी है और उसे कंट्रोल कर रहा है। दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक हिरासत में लिए गए इस शख्स से पूछताछ की जा रही है। वह कौन है और एनएसए के घर (NSA Delhi Residence) में किस मंशा से घुस रहा था, यह जानने की कोशिश की जा रही है।

तो आखिर पूरा मामला क्या है? डोभाल के आवास में जबरन घुसने की कोशिश कर रहा यह शख्स बहकी-बहकी बातें कर रहा था। वह कह रहा था कि उसे अजीत डोभाल से मिलना है। उसकी समस्या वही सुलझा सकते हैं। शुरुआती जांच के बाद, दिल्‍ली पुलिस ने बताया कि आरोपी मानसिक रूप से परेशान लग रहा है। वह किराए की कार चला रहा था। अजित डोभाल दिल्ली के बेहद हाई सिक्यॉरिटी वाले इलाके लुटियंस जोन के 5 जनपथ बंगले में रहते हैं। उनसे पहले पूर्व प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल इस बंगले में रहते थे। डोभाल के बंगले के पास ही कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का बंगला है।

और यदि आप नही जानते की आखिर यह अजीत डोभाल है कौन? तो उत्‍तराखंड के पौड़ी गढ़वाल में जन्‍मे डोभाल का करियर बतौर आईपीएस ऑफिसर शुरू हुआ था। देश के भीतर दुश्‍मनों से निपटने के साथ-साथ विदेश में, खासतौर पर पाकिस्‍तान में डोभाल ने अपने काम से अलग छाप छोड़ी है। 90 के दशक की शुरुआत में डोभाल को कश्‍मीर भेजा गया था। करीब एक दशक तक उन्होंने खुफिया ब्यूरो की ऑपरेशन शाखा का नेतृत्व किया। डोभाल 33 साल तक नॉर्थ-ईस्ट, जम्मू-कश्मीर और पंजाब में खुफिया जासूस भी रहे। अजीत डोभाल को रिटायरमेंट के बाद नरेंद्र मोदी सरकार में राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बनाया गया। वह 2015 में मणिपुर में आर्मी के काफिले पर हमले के बाद म्यांमार की सीमा में घुसकर उग्रवादियों के खात्मे के लिए सर्जिकल स्ट्राइक ऑपरेशन के हेड प्लानर रहे। 2019 में सीएए-एनआरसी के विरोध में दिल्ली में अचानक हिंसा भड़क गई थी। अजित डोभाल लगातार अधिकारियों को डायरेक्‍शन देते रहे। कुछ दिन बाद खुद डोभाल दिल्ली की सड़कों पर उतरे और हालात का जायजा लिया।

अजीत डोभाल को भारत का जेम्स बॉन्ड कहा जाता है, वह पाकिस्तान और चीन की आंखों की किरकिरी बने रहते हैं. डोभाल कई आतंकी संगठनों के निशाने पर भी हैं. पिछले साल फरवरी में जैश के आतंकी के पास से डोभाल के दफ्तर के रेकी का वीडियो मिला था. इस वीडियो को आतंकी ने अपने पाकिस्तानी हैंडलर को भेजा था. इसके बाद डोभाल की सुरक्षा बढ़ा दी गई थी।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें