yogi cabinet
Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

एक बार फिर से योगी सरकार में शामिल हो सकते है केशव प्रसाद मौर्य।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा ने ऐतिहासिक जीत दर्ज की। कुल 403 सीटों में से 255 सीटों पर जीत हासिल कर बीजेपी ने समाजवादी पार्टी के सत्ता हासिल करने के सपनों पर पानी फेर दिया। अब चूंकि सभी नतीजे आ चुके हैं, जीत का जश्न भी मनाया जा चुका है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपनी कैबिनेट बनाने में जुट गए हैं।

सरकार के गठन को लेकर योगी जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की। इस बात की संभावना है कि इस बार योगी कैबिनेट में कई नए चेहरों को शामिल किया जाएगा। साथ ही राज्य में उप मुख्यमंत्रियों की संख्या भी बढ़ाई जा सकती है।

भाजपा इस बार जाति क्षेत्रीय समीकरण को देखते हुए रणनीति बना रही है। राज्य मंत्रिमंडल में अनुसूचित जाति के और विधायकों को शामिल किया जा सकता है। इस बार भाजपा किसी दलित को उपमुख्यमंत्री बना सकती है। चुनाव में भाजपा के बड़े-बड़े नामों को हार का स्वाद चखना पड़ा है, योगी सरकार के 11 मंत्री अपने-अपने विधानसभा सीटों से हार गए। ऐसे में इन मंत्रियों के स्थान पर नए चेहरों को मंत्रीमंडल में मौका मिलने के पूरे-पूरे आसार हैं।

चुनावो में सिराथू विधानसभा खूब चर्चा में रही। यहां से भाजपा के उम्मीदवार और पूर्व डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को सपा की पल्लवी पटेल ने 7337 वोटों से हरा दिया लेकिन केशव प्रसाद मौर्य को एक बार फिर योगी सरकार में जगह मिलने जा रही है। उत्तर प्रदेश में ओबीसी नेता होने के साथ-साथ वे विधान परिषद के सदस्य भी हैं। इस वजह से उनकी वापसी की संभावना है। इसके अलावा कन्नौज से चुनाव जीते रिटायर्ड आईपीएस आसिम अरुण, आगरा ग्रामीण से विधायक बेबी रानी मौर्य, अपना दल से आशीष पटेल और निषाद पार्टी से डॉक्टर संजय निषाद को पार्टी कैबिनेट में शामिल किया जा सकता है।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें