Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

थोक खरीदारों के लिए डीजल की कीमतों में भारी उछाल। क्या आम जनता पर असर होगा?

जैसा कि अनुमान लगाया जा रहा था,चुनावों के बाद डीजल की कीमतों में बड़ा इजाफा हुआ है। हालांकि डीजल की कीमत में यह मूल्यवृद्धि थोक खरीददारों के लिए की गई है। पेट्रोल पंपों से बिकने वाले डीजल की खुदरा दामों में अभी कोई बदलाव नहीं हुआ है। तेल कंपनियों ने थोक में डीजल की खरीदी पर ₹28 प्रति लीटर तक की बढ़ोतरी की है। यह कदम पेट्रोल-डीजल पर हो रहे घाटे को कम करने के लिए उठाया गया है।

वैसे तो रिटेल कीमतों में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है लेकिन परिवहन और माल ढुलाई महंगी होने से इस बढ़ोतरी का असर आम जनता पर भी होगा। ट्रांसपोर्टेशन महंगा होने से रोजमर्रा की चीजें महंगी हो जाएंगी। यानी कि अप्रत्यक्ष रूप से घरेलू महंगाई बढ़ सकती है।

तेल कंपनियों का कहना है कि लगातार पांचवे महीने पेट्रोल पंप पर बिक्री बढ़ी है क्योंकि सस्ते डीजल के लिए बस ऑपरेटरों और मॉल जैसे थोक खरीदार भी पेट्रोलियम कंपनियों से सीधे टैंकर बुक करने के बजाय फ़्यूल डीलर से डीज़ल खरीद रहे हैं। इस वजह से पेट्रोलियम कंपनियों को नुकसान हो रहा था। एक वजह तेल कंपनियों को हो रहा घाटा भी है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत 100 डॉलर प्रति बैरल के करीब बनी हुई है।अब तेल कंपनियों ने पेट्रोल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया है। लेकिन अभी की बात करे तो कच्चा तेल 30 डॉलर प्रति बैरल से ज्यादा महंगा हो गया है। इस वजह से भी थोक खरीदारों के लिए डीजल महंगा किया गया है।

अभी अभी विधानसभा चुनाव हुए हैं और आने वाले कुछ समय में भी देश में चुनाव होने हैं। यही वजह है कि सभी के लिए पेट्रोल डीजल महंगे नहीं किए गए। सामने से भले ही आप को समझ ना आए, लेकिन थोक खरीददारों के लिए की गई इस बढ़ोतरी से हर क्षेत्र में असर दिखेगा। थोक खरीदारों में रेलवे एंड ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन, पावर प्लांट, डिफेंस, सीमेंट प्लांट और केमिकल प्लांट मुख्य रूप से आते हैं। इन खरीददारों के लिए ईंधन के दाम बढ़ाने से सीधे तौर पर और तत्काल प्रभाव तो नहीं दिखता लेकिन अप्रत्यक्ष रूप से आम जनता की जेब पर इसका असर जरूर पड़ता है।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें