Indian journalists should learn from this employee of the East India Company.
Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

भारतीय पत्रकारों को ईस्ट इंडिया कंपनी के इस मुलाजिम से सीख लेनी चाहिए।

आज की तारीख में देखें तो हमें तरह तरह के विज्ञापन देखने मिलते हैं। कंपनियां भी,अखबार भी, मीडिया चैनल्स भी प्रसिद्धि पाने के लिए,लोगों का ध्यान आकर्षित करने के लिए अच्छे कलात्मक विज्ञापन बनाती है। लेकिन इन विज्ञापनों का इतिहास काफी पुराना है।

आज तारीख है 25 मार्च 2022 आज की तारीख का इतिहास जुड़ा है अखबारों में छपने वाले विज्ञापनों से। 25 मार्च 1788 को कलकत्ता गजट भारतीय भाषा बांग्ला में पहला विज्ञापन प्रकाशित हुआ था। बंगाल गजट या हिक्किस गजट के नाम से इस अखबार को जाना जाता था और यह भारत का पहला समाचार पत्र था।

आपको जानकार हैरानी होगी की इसका प्रकाशन ईस्ट इंडिया कंपनी के एक मुलाजिम ने शुरू किया था और वहीं मुलाजिम भारतीयों के हक में खबरें छापता था। अंग्रेजी शासन के काले कारनामो पर इस अखबार ने खूब कलम चलाई। अफसोस है कि जो काम एक अंग्रेज 232 वर्ष पहले कर गया, वही काम आज के पत्रकार भूल गए हैं और सत्ता की चाटुकारिता करने में व्यस्त है।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें