Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

बीजेपी संसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में

बीजेपी संसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर अपने बयानों को लेकर आए दिन सुर्खियों में रहतीं हैं, इन दिनों वो फिर चर्चाओं में हैं। इस बार उनके द्वारा बीजेपी से निलंबित नूपुर शर्मा के समर्थन में बयान दिया गया है। उन्होंने उनके समर्थन में कहा की यदि सच कहना बगावत है तो समझो हम भी बागी हैं।

उन्होंने यह समर्थन ट्वीट कर कहा, जहां वो लिखतीं हैं की, ”सच कहना अगर बगावत है तो समझो हम भी बागी हैं. जय सनातन, जय हिंदुत्व…” साध्वी प्रज्ञा यहाँ भी नही रुकी बल्कि ट्वीट के बाद उन्होंने बयान दिया की मुसलमानों को असलियत बताने पर इतनी तकलीफ क्यों होती है? और आगे कमलेश तिवारी का जिक्र करते हुए कहने लगी कि उन्होंने जो कहा उसके बाद उनकी हत्या कर दी गई। उन्होंने कहा कि मैं शायद इस बात से बदनाम हूं कि मैं सत्य बोलती हूं, चाहे कुछ भी हो. यह भी एक सत्य है कि वहां शिव मंदिर था, है और रहेगा। उसको फव्वारा कहना हमारे हिंदू मानदंड, हमारे हिंदू देवी-देवता, सनातन के मूल धर्म पर कुठाराघात है, इसलिए हम असलियत बताएंगे।

बीजेपी सांसद ने कहा कि हमारी असलियत तुम बता दो, हमें स्वीकार है. लेकिन तुम्हारी असलियत हम बता रहे हैं तो क्यों तकलीफ है? इसका मतलब कहीं ना कहीं इतिहास गंदा है। हमेशा विधर्मियों ने ऐसा किया है। उन्होंने कहा कि हमारे देवी देवताओं पर यह फिल्म बनाते हैं, डायरेक्शन देते हैं, प्रोड्यूस करते हैं और गालिय देते हैं। आज से नहीं इनका पूरा कम्युनिस्ट इतिहास है. पूरी तरह से ये लोग भी अपनी मानसिकता को प्रस्तुत करते हैं।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on telegram
Share on pinterest

साझा करें

ताजा खबरें

सब्सक्राइब कर, हमे बेहतर पत्रकारिता करने में सहयोग करें